Wednesday, February 22, 2017

पब्लिक जो मीडिया दिखाती हैं उसको ही सच मान बैठती है : श्री गुरुमाँ कंचनगीरीजी

पब्लिक जो मीडिया दिखाती हैं उसको ही सच मान बैठती है : श्री गुरुमाँ कंचनगीरीजी 

जूना अखाड़ा राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं महाकाल मानव सेवा संस्थान की श्री गुरुमाँ कंचनगीरीजी ने एक निजी चैनल में अपना इंटरव्यू देते हुए कहा कि देखिए! आज की डेट में सभी साधु-संतों को टारगेट किया जा रहा है। कारण बस यही है कि हमारे हिन्दू धर्म में कोई भी बलपूर्वक कभी सामने नहीं आते हैं ।
Public-believe-on-media-and-not-on-the-innocence-of-saint

अगर कोई संत फंस जाते हैं तो बाकी सब चुप बैठ जाते हैं । संत संस्कृति का प्रचार करते हैं, जगह-जगह जाकर प्रवचन के द्वारा लोगों में हिन्दू संस्कृति का ज्ञान देना ये बहुत बड़ा कार्य है जो हिन्दू संतों द्वारा किया जा रहा है इसलिए उन्हें टारगेट किया जा रहा है जिससे हिंदुत्व खत्म किया जा सके । लेकिन हम सब को आगे आना पड़ेगा, उसके लिए प्रयास करना पड़ेगा । 

कुछ मीडिया भी कारण बन रही है । जब भी किसी संत को टारगेट किया गया है तो उतना ही ज्यादा उनके बारे में मीडिया द्वारा गलत दिखाया जाता है और पब्लिक की सोच भी ऐसी हो गई है कि जैसा मीडिया दिखाती है उसको ही सच मान बैठती हैं । 

मीडिया जो है वो असत्य को आगे लाके दिखाती है, और हम सत्य को सामने लाने की कोशिश करते हैं तो हमारे पीछे प्रशासन मीडिया सभी पड़ते हैं । 


तो अपनी सोच को बदलना पड़ेगा, पब्लिक को अपने आपको बदलना पड़ेगा । अपने आप से विवेक अंदर रखना पड़ेगा।

जैसे संत आसारामजी बापू हैं कि इस ऐज (80 वर्ष की उम्र) में वो इस प्रकार का कार्य कर ही नहीं सकते हैं । उनके उपर इल्जाम लगे हैं, आरोप प्रति आरोप लगे हैं । 

तो मैं ये कहना चाहूंगी लोगों को, खुद ही एकांत में सोचे कि क्या ये अवस्था ये करने की है..?? 

तो यही अपील करना चाहूंगी लोगों से कि आप कम से कम सच को जानने की कोशिश करें। जो संत (आसारामजी बापू जैसे) हैं हजार संतों के बराबर हैं ।

आज जिस परिस्थिति में संत आसारामजी बापू जेल में हैं । वो अपने दुःख का विषय है। तो हम सबको आगे आना चाहिए । 

मैंने संतो के लिए मुहीम भी छेड़ दी है महाकाल मानव सेवा की तरफ से । अभी हम साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के लिए भी कुछ न कुछ कार्य करेगें और संत आसारामजी बापू के लिए हमने पहले से ही मुहीम छेड़ी हुई है। बहुत जल्द ही आप हमारी टी.वी चैनल पर  देखेगें गुरुमाँ की धर्म धारा जितने भी संत हैं जिन पर आरोप लगाया गया है उनको उस अदालत में बुलाया जाएगा ।

गौरतलब है कि साध्वी प्रज्ञा 9 साल से और संत आसारामजी बापू 40 महीने से जेल में बंद है जबकि उनपर अभीतक एक भी आरोप सिद्ध नही हुआ है यहाँ तक कि उनको क्लीनचिट भी मिल चुकी है लेकिन उनको अभीतक जमानत नही मिलने पर गुरु माँ कंचनगिरी ने उनकी शीघ्र रिहाई के लिए मुहीम छेड़ दी है ।

आपको बता दें कि इस तरह से पहले भी साधु-संत एवं कई हिन्दू संगठन साध्वी प्रज्ञा और बापू आसारामजी की शीघ्र रिहाई के लिये कई आंदोलन कर चुके हैं और सरकार से मांग भी की है कि साध्वी प्रज्ञा और बापू आसारामजी को षड़यंत्र के तहत फंसाया गया है जिसके कई प्रमाण भी  मिले हैं पर उनको जमानत जैसे मौलिक अधिकार से भी दूर रखा जा रहा है।
आखिर क्यों..???

No comments:

Post a Comment

हिंदी पर करें गर्व, अंग्रेजी के पीछे दौड़ना दुर्भाग्यपूर्ण: वेंकैया नायडू

हिंदी पर करें गर्व, अंग्रेजी के पीछे दौड़ना दुर्भाग्यपूर्ण*: वेंकैया नायडू जून,25, 2017 शनिवार को केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वें...