Monday, March 20, 2017

🚩मौलाना मसूद मदनी ने किया महिला से दुष्‍कर्म, हुआ गिरफ्तार, मीडिया ने क्यों साधी चुप्पी?

🚩मौलाना मसूद मदनी ने किया महिला से दुष्‍कर्म, हुआ गिरफ्तार, मीडिया ने क्यों साधी चुप्पी?

🚩सहारनपुर : निसंतान महिलाओं को बच्चे पैदा करने के नाम पर उनके साथ दुष्‍कर्म करने के आरोपी #मसूद_मदनी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। मसूद मदनी जमीयत #उलमा-ए-हिन्द के #महासचिव #मौलाना #महमूद मदनी का सगा भाई है। जो #उत्तराखंड में नारायण दत्त तिवारी की सरकार में राज्य मंत्री रह चुका है।
Maulana-Masood-Madani

🚩हरियाणा जींद की रहने वाली दूसरे समुदाय की एक महिला ने मसूद मदनी के खिलाफ #देवबंद कोतवाली में एक दिन पूर्व शुक्रवार शाम को दुष्‍कर्म का मुकदमा दर्ज करवाया। महिला का आरोप है कि वह #नि:संतान है और काफी समय पहले पिरान कलियर गयी, जहां उसकी मुलाकात किसी ने मसूद मदनी से कराई ।

🚩मसूद मदनी ने #महिला से बातचीत के दौरान यह भरोसा दिलाया कि वह दवाई से उसकी मनचाही इच्छा पूरी करा देगा।

🚩मदनी उसे #झांसा देकर देवबंद लाया और उसके साथ कई बार #दुष्‍कर्म किया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर महिला का मेडिकल परीक्षण कराया और शुक्रवार देर रात मसूद मदनी को #गिरफ्तार कर लिया।

🚩मदनी को जेल भेज दिया गया है। देवबंद में मामले की गंभीरता को देखते हुए सतर्कता बढ़ा दी गई है। #पुलिस के एक आला अफसर ने भी इस मामले की पुष्टि की है।  -नई दुनिया

🚩इतना बड़ा मामला होते हुए भी #मीडिया हॉउस में इस खबर को लेकर सन्नाटा है, लेकिन यही मामला किसी हिन्दू साधु संत का होता तो मीडिया 24 घण्टें खबरें दिखाती, डिबेट बिठाती और #साधु-संतों को बदनाम करने के लिए नई-नई स्टोरियां बनाती लेकिन अब मौलाना का मामला है तो मीडिया ने चुप्पी साध ली है।

🚩ऐसे ही कुछ दिन पहले #केरल के कोच्चि में एक केथोलिक दुष्कर्म आरोपी #ईसाई #पादरी को एक नाबालिग लड़की से बलात्कार के मामलें में गिरफ्तार किया गया है । दुष्कर्म आरोपी 48 वर्षीय रोबिन वडक्‍कनचेरिल कन्‍नूर जिले के कोटियूर में सेंटर सेबेस्टियन चर्च में पादरी है ।

🚩लेकिन पादरी के मामले में भी मीडिया ने चुप्पी साध ली थी ऐसे तो कई ईसाई पादरियों और मौलानो के दुष्कर्म सामने आये हैं, उन्हें न्यायालय ने सजा भी मुकम्मल की है ,लेकिन #इलेक्ट्रॉनिक या #प्रिंट मीडिया ने कभी भी जनता को #सच्चाई नही दिखाई है ।

🚩इससे विपरीत जब भी कोई हिन्दू साधु-संत पर आरोप लगता है तो मीडिया दिन-रात झूठी खबरें चलाती है, लेकिन जब वे #निर्दोष बरी हो जाते हैं, तब मीडिया वर्ग इस खबर पर #कवरेज नही देती।

🚩जैसा कि शंकराचार्य #जयेन्द्र स्वरस्वती, स्वामी #नित्यानंद, साध्वी #प्रज्ञा, स्वामी #असीमानंद को खूब बदनाम किया गया लेकिन जैसे ही वे निर्दोष बरी हुये तो उनकी #निर्दोषता पर एक भी खबर नही दिखाई गई । अभी संत #आसारामजी बापू के खिलाफ खूब मीडिया ट्रायल चल रहा है उसमें उनको फंसाने और उनके खिलाफ झूठी खबरें दिखाने के लिए निजी न्यूज चैनलों को पैसा दिया गया है, उसके कई खुलासे भी हुए हैं लेकिन मामले दबाए जा रहे हैं और जब वो #निर्दोष बरी हो जाएंगे तब एक भी चैनल खबर नही दिखायेगा ।

🚩इससे स्पष्ट होता है कि जो भी हिन्दू साधु-संत सनातन संस्कृति के उत्थान के लिये काम करते हैं, धर्मान्तरण में बाधा बनते हैं, #विदेशी #कंपनियों की उत्पाद बन्द करवाकर स्वदेशी लाते हैं, #गौ रक्षा के लिये कदम उठाते हैं, लोगों में भारतीय #संस्कृति के ज्ञान का प्रचार प्रसार करते हैं और #पाश्चात्य संस्कृति के दुष्प्रभावों का विरोध करते हैं, जिससे #राष्ट्र विरोधी ताकतों द्वारा को देश को #गुलाम बनाना मुश्किल हो जाता है, इसलिए हिन्दू साधु-संतों को #षड्यंत्र के तहस #फँसातें है और विदेशी फंड से चलने वाली भारतीय मीडिया द्वारा उनको बदनाम करवाते हैं तथा #सेक्युलर नेताओं की मिली -भगत से उनको जेल करवाते हैं।

🚩#हिन्दुस्तानी, राष्ट्रविरोधी ताकतों के षड़यंत्र को समझें, मीडिया तथा हिन्दू विरोधी ताकतों द्वारा भारतीय संस्कृति को नष्ट करने का जो षड़यंत्र देश में चल रहा है उसको भापने का प्रयास अवश्य करें ।

No comments:

Post a Comment

हिंदी पर करें गर्व, अंग्रेजी के पीछे दौड़ना दुर्भाग्यपूर्ण: वेंकैया नायडू

हिंदी पर करें गर्व, अंग्रेजी के पीछे दौड़ना दुर्भाग्यपूर्ण*: वेंकैया नायडू जून,25, 2017 शनिवार को केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वें...