Tuesday, July 4, 2017

कैथोलिक चर्च: बच्चों का बलात्कार करना पीडोफाइल ईसाई पादरियों की धार्मिक स्वतंत्रता है

🚩 *कैथोलिक चर्च: बच्चों का बलात्कार करना पीडोफाइल ईसाई पादरियों की धार्मिक स्वतंत्रता है*
जुलाई 4, 2017
Add caption
🚩जो सच होता है वो कभी छुपता नही है, देर सवेर बाहर आ ही जाता है, अधिकतर पादरी छोटे-छोटे बच्चों के साथ दुष्कर्म करते हैं फिर बोलते हैं कि हमने किया ही नही है लेकिन अब पादरी ने खुद सच्चाई बता ही दी ।
🚩एक कैथोलिक चर्च के उच्च पदस्थ पादरी का एक चौंकाने वाला बयान आया है, मिल्वौकी के Archdiocese (आर्चडियोज़) ने दावा किया है कि बाल यौन शोषण (बलात्कार) पादरियों के लिए एक "ईश्वर प्रदत्त (धार्मिक) स्वतंत्रता 'है।
🚩ये घिनौना वक्तव्य कार्डिनल टिमोथी दोलन ने दिया था, जब उसे पकड़ा गया था । चर्च की राशि को कथित तौर पर एक अलग न्यास में स्थानांतरित करते हुए , ताकि उस धन को पादरियों के बाल #शोषण #मुकदमों से बचाया जा सके ।
🚩मिल्वौकी के तत्कालीन आर्चबिशप टिमोथी डोलन द्वारा लिखित पत्र के अनुसार, मिल्वौकी के कैथोलिक आर्चडियोज ने पादरियों  के यौन शोषण के पीड़ितों द्वारा चलाये गए मुकदमों से अपने $ 55 मिलियन (साढ़े पांच करोड़ अमेरिकन डॉलर) #धन की रक्षा की मांग की, इसलिए उसने उन धन को आर्चडीओसीज के मकबरे और #कब्रिस्तानों की देखभाल के लिए स्थापित एक अलग #ट्रस्ट में स्थानांतरित कर दिया।
🚩एक बार जब यौन दुर्व्यवहार पीड़ितों ने एक दिवालियापन कार्यवाही में उन निधियों की मांग की, तो आर्चडीओसीज ने दावा किया कि उनको बच्चों के यौन उत्पीड़न की धार्मिक स्वतंत्रता है, इसलिए उनको यौन शोषण के पीड़ितों को क्षतिपूर्ति करने के लिए उस धन का उपयोग नहीं करना चाहिए।
🚩चर्च और राज्य के अनुसार, #मिल्वौकी #आर्चडीओसीज के खिलाफ लगे हुए आरोप विशेष रूप से भयावह हैं और उनमें45 पादरी शामिल हैं जिनपे लगभग 200 बहरे लड़कों के साथ #दुष्कर्म करने का आरोप है।
🚩थिंक प्रोग्रेस (एक #अमेरिकी राजनीतिक समाचार ब्लॉग ) के मुताबिक, मिल्वौकी आर्चडीओसीज ने दिवालियापन से बचाने के लिए $55 मिलियन धन को  पहले कब्रिस्तान और मकबरे के ट्रस्ट में डालकर सील कर दिया । फिर उन्होंने #धार्मिक #स्वतंत्रता के नाम पे अपना बचाव करने की कोशिश की ।
🚩चर्च यह दावा कर रहा है कि धन कब्रिस्तान और मकबरे के #ट्रस्ट में है, यदि वे उन लोगों के लिए भुगतान करने को मजबूर होते हैं जिनके जीवन को उन्होंने बर्बाद किया है, तो वे मृत लोगों को सेवा करने के अपने दायित्वों को पूरा करने में सक्षम नहीं होंगे।
🚩अगर यौन उत्पीड़न के शिकार या अन्य लेनदारों को इन निधियों से मुआवजा दिया जाता है, तो आर्चडीओसीज कहता है, "मिल्वौकी कैथोलिक #कब्रिस्तानों की शाश्वत देखभाल के लिए कोई धन नहीं बचेगा या तो अपर्याप्त धन होगा " और इस तरह आर्चडीओसीज का दावा है कि वो यह धार्मिक दायित्व को पूरा करने में असमर्थ होगा।
🚩लेकिन सातवें #सर्किट कोर्ट कई कारण बताता है कि धार्मिक आजादी आर्चडीओसी के लेनदारों और उसके पादरी के पीड़ितों के अधिकारों का उल्लंघन नहीं कर सकती है।
🚩अदालत ने फैसला सुनाया कि चर्चों को #सामाजिक सुरक्षा करो का भुगतान करने से बाहर निकलने का विकल्प नहीं मिलता - #सार्वजनिक हित धार्मिक स्वतंत्रता से पहले है।
🚩अदालत ने चेतावनी दी है कि पादरियों ने जिन बच्चों का यौन शोषण किया है उनको वित्तिय सहायता देनी पड़ेगी, #बच्चों का #यौन_शोषण करना धार्मिक स्वतंत्रता ऐसा कहकर छूट नही सकते हैं ।
🚩कैथलिक चर्च  कुकर्मों की पाठशाला व #सेक्स स्कैंडल का अड्डा बन गया है।
🚩ईसाई पादरी धर्मगुरु बनकर बैठे हैं और बच्चों के साथ दुष्कर्म करते हैं जब #अदालत उन पर जुर्म लगाती है तब बयान देते हैं कि बच्चों का यौन शोषण करने की धार्मिक स्वतंत्रता है ऐसे ईसाई के धर्मगुरु,लोगों का क्या भला करेंगे?
🚩धार्मिकता के नाम पर छोटे-छोटे बच्चों के साथ बलात्कार करना, दारू पीना, #मांस खाना, धर्म का पैसा शेयर बाजार में लगाना, लोगों का शोषण करना, कानून का पालन नही करना, समाज उत्थान कार्य नही करना ऐसे लोग भारत में भोले भाले #हिन्दुओं का #धर्मांतरण करवाते हैं और बोलते हैं कि ईसाई धर्म सबसे बड़ा धर्म है क्या यही बड़ा धर्म है???
🚩जो #मीडिया हिन्दू धर्म के पवित्र #साधु-संतों को बदनाम करता रहता है वो ईसाई पादरी के कुकर्म पर इसलिए चुप है कि उसको #वेटिकन सिटी से फंडिंग होता है ।
🚩आपको बता दें कि अभी हाल ही में #आस्ट्रेलिया की कैथोलिक चर्च ने #सेक्सुअल अब्यूज (बच्चों का यों शोषण) के मामले में करीब 21 करोड़ 20 लाख 90 हजार अमेरिकी डॉलर (1426 करोड़ रुपए) का हर्जाना दिया है।
🚩कन्नूर (कैरल) के कैथोलिक चर्च की एक  नन सिस्टर मैरी चांडी  ने #पादरियों और #ननों का #चर्च और उनके शिक्षण संस्थानों में व्याप्त व्यभिचार का जिक्र अपनी आत्मकथा ‘ननमा निरंजवले स्वस्ति’ में किया है कि ‘चर्च के भीतर की जिन्दगी आध्यात्मिकता के बजाय #वासना से भरी थी ।
🚩ईसाई धर्म के बारे में विदेशी सुप्रसिद्ध हस्तियों के उदगार
🚩मैं #ईसाई #धर्म को एक अभिशाप मानता हूँ, उसमें आंतरिक विकृति की पराकाष्ठा है । वह द्वेषभाव से भरपूर वृत्ति है । इस भयंकर विष का कोई मारण नहीं । ईसाईत गुलाम, #क्षुद्र और #चांडाल का पंथ है । - फिलॉसफर नित्शे
🚩दुनिया की सबसे बड़ी बुराई है #रोमन #कैथोलिक चर्च ।  - एच.जी.वेल्स
🚩मैंने पचास और #साठ वर्षों के बीच बाईबल का अध्ययन किया तो तब मैंने यह समझा कि यह किसी पागल का प्रलाप मात्र है । - थामस जैफरसन (अमेरिका के तीसरे राष्ट्र पति)
🚩बाईबल पुराने और दकियानूसी #अंधविश्वासों का एक बंडल है । बाईबल को धरती में गाड़ देना चाहिए और प्रार्थना पुस्तक को जला देना चाहिए । - जॉर्ज बर्नार्ड शॉ
🚩मैंने 40 वर्षों तक #विश्व के सभी बड़े धर्मो का अध्ययन करके पाया कि हिन्दू धर्म के समान पूर्ण, महान और #वैज्ञानिक धर्म कोई नहीं है । - डॉ. एनी बेसेन्ट
🚩 भारतवासी सावधान रहें !!
ऐसे धर्म विहीन पैसों के लालची, #कुकर्मी, #मांस भक्षी पादरियों के चक्कर में आकर धर्म परिवर्तन नही करें नहीं तो बाद में फिर पछताना पड़ेगा ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/he8Dib
🔺 Instagram : https://goo.gl/PWhd2m
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺Blogger : https://goo.gl/N4iSfr
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
   🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩

No comments:

Post a Comment

जानिए क्या है सोमवती अमावस्या का महत्व, कैसे करें दरिद्रता का नाश

अगस्त 20, 2017 सोमवार को पड़ने वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहते हैं। वैसे तो साल में हर महीने अमावस्या आती है लेकिन सोमवती अमावस्...